Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

Voting On 43 Seats On Tuesday For The Second Phase Of District Development Council In Jammu And Kashmir – डीडीसी चुनावः आज 43 सीटों पर वोटिंग, कश्मीर के सभी मतदान केंद्र संवेदनशील

0 16

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, श्रीनगर
Updated Tue, 01 Dec 2020 12:03 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

जम्मू-कश्मीर में जिला विकास परिषद के दूसरे चरण के लिए मंगलवार को 43 सीटों पर मतदान होगा। इस चरण में 25 सीटें कश्मीर और 18 जम्मू में हैं। 321 उम्मीदवार मैदान में हैं, जिनमें 196 कश्मीर से और 125 जम्मू में हैं। कश्मीर संभाग की सभी मतदान केंद्र संवेदनशील हैं। प्रशासन की ओर से सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। राज्य के चुनाव आयुक्त केके शर्मा ने सोमवार को यहां मीडिया से बात करते हुए सभी मतदाताओं से अपील की है कि वह मास्क लगाकर ही वोट डालने के लिए आएं। सभी मतदान केंद्रों पर दस-दस लीटर सैनिटाइजर का इंतजाम है। 

शर्मा ने दोहराया कि किसी भी उम्मीदवार को चुनवा प्रचार से मना नहीं किया गया है। पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती को जम्मू-कश्मीर का पूर्व मुख्य मंत्री हो के नाते घर से बाहर निकलते समय सुरक्षा प्रोटोकाल का पालन करने की जरूरत है। सभी मतदान केंद्रों पर सुरक्षा की पर्याप्त व्यवस्था है आशा है कि लोग बिना किसी डर के बड़ी संख्या में वोट डालने के लिए घर से बाहर निकलेंगे।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि व्हाट्सएप पर कुछ शिकायतें प्राप्त हुई थीं और उन्हें आईजी कश्मीर को भेज दिया गया था, जिन्होंने संबंधित एसएसपी के साथ इस मुद्दे को उठाया है। मैं स्पष्ट करता हूं कि किसी भी उम्मीदवार को चुनाव प्रचार करने से नहीं रोका गया है। कभी-कभी सुरक्षा से जुड़े कुछ मामले होते हैं। हमारे लिए मानव जीवन बहुत महत्वपूर्ण है। बाद के चरण के उम्मीदवारों को सलाह दी जाती है कि वह चुनाव प्रचार के लिए जाने से पहले पुलिस को सूचित कर दें ताकि उनकी सुरक्षा के इंतजाम किए जा सकें। उन्होंने कहा कि कुछ उम्मीदवारों को निर्विरोध चुना गया है और उन्हें जल्द ही उचित सुरक्षा घेरे के तहत अपने-अपने घरों में जाने की अनुमति दी जाएगी।

-प्रोटोकाल के साथ महबूबा कर सकती हैं प्रचार
पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती के आरोप कि उन्हें बाहर नहीं निकलने दिया जा रहा है। इसके बारे में राज्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि महबूबा मुफ्ती पूर्व मुख्यमत्री हैं। उनका एक तयशुदा प्रोटोकॉल है। जिसे महबूबा के घर से निकलते समय पुलिस को पालन करा होता है। जहां तक उनकी शुक्रवार की यात्रा की बात है तो  वह चुनाव प्रचार के लिए नहीं जा रही थीं। वह उचित प्रोटोकाल के साथ अपनी पार्टी के उम्मीदवार का प्रचार करने को स्वतंत्र हैं।

जम्मू-कश्मीर में जिला विकास परिषद के दूसरे चरण के लिए मंगलवार को 43 सीटों पर मतदान होगा। इस चरण में 25 सीटें कश्मीर और 18 जम्मू में हैं। 321 उम्मीदवार मैदान में हैं, जिनमें 196 कश्मीर से और 125 जम्मू में हैं। कश्मीर संभाग की सभी मतदान केंद्र संवेदनशील हैं। प्रशासन की ओर से सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। राज्य के चुनाव आयुक्त केके शर्मा ने सोमवार को यहां मीडिया से बात करते हुए सभी मतदाताओं से अपील की है कि वह मास्क लगाकर ही वोट डालने के लिए आएं। सभी मतदान केंद्रों पर दस-दस लीटर सैनिटाइजर का इंतजाम है। 

शर्मा ने दोहराया कि किसी भी उम्मीदवार को चुनवा प्रचार से मना नहीं किया गया है। पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती को जम्मू-कश्मीर का पूर्व मुख्य मंत्री हो के नाते घर से बाहर निकलते समय सुरक्षा प्रोटोकाल का पालन करने की जरूरत है। सभी मतदान केंद्रों पर सुरक्षा की पर्याप्त व्यवस्था है आशा है कि लोग बिना किसी डर के बड़ी संख्या में वोट डालने के लिए घर से बाहर निकलेंगे।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि व्हाट्सएप पर कुछ शिकायतें प्राप्त हुई थीं और उन्हें आईजी कश्मीर को भेज दिया गया था, जिन्होंने संबंधित एसएसपी के साथ इस मुद्दे को उठाया है। मैं स्पष्ट करता हूं कि किसी भी उम्मीदवार को चुनाव प्रचार करने से नहीं रोका गया है। कभी-कभी सुरक्षा से जुड़े कुछ मामले होते हैं। हमारे लिए मानव जीवन बहुत महत्वपूर्ण है। बाद के चरण के उम्मीदवारों को सलाह दी जाती है कि वह चुनाव प्रचार के लिए जाने से पहले पुलिस को सूचित कर दें ताकि उनकी सुरक्षा के इंतजाम किए जा सकें। उन्होंने कहा कि कुछ उम्मीदवारों को निर्विरोध चुना गया है और उन्हें जल्द ही उचित सुरक्षा घेरे के तहत अपने-अपने घरों में जाने की अनुमति दी जाएगी।

-प्रोटोकाल के साथ महबूबा कर सकती हैं प्रचार
पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती के आरोप कि उन्हें बाहर नहीं निकलने दिया जा रहा है। इसके बारे में राज्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि महबूबा मुफ्ती पूर्व मुख्यमत्री हैं। उनका एक तयशुदा प्रोटोकॉल है। जिसे महबूबा के घर से निकलते समय पुलिस को पालन करा होता है। जहां तक उनकी शुक्रवार की यात्रा की बात है तो  वह चुनाव प्रचार के लिए नहीं जा रही थीं। वह उचित प्रोटोकाल के साथ अपनी पार्टी के उम्मीदवार का प्रचार करने को स्वतंत्र हैं।

Source link

Copy

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!