Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

छात्र पिटाई मामले में एआईएसएफ नेता ने CM समेत DM को पत्र भेज कर तेघरा CO को बर्खास्त करने की मांग

0 49

वैक्सीन लेकर लौट रहे छात्र को सीओ ने पीटा,एआईएसएफ ने मुख्यमंत्री, अपर मुख्य सचिव, सहित बेगूसराय के डीएम को पत्र भेज सीओ को बर्खास्त करने की माँग की, डीएम ने एआईएसएफ  ने नेता को कार्रवाई का दिलाया भरोसा।

First Prime: बिहार के बेगूसराय जिला में वैक्सीन लेने जा रहे छात्रों के साथ तेघड़ा सीओ द्वारा मारपीट एवं झूठा मुकदमा किए जाने के मामले में आज एआईएसएफ के राज्य नेतृत्व के नेताओं के द्वारा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार,गृह विभाग और राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के अपर मुख्य सचिव,बेगूसराय के डीएम को पत्र भेज सीओ को बर्खास्त करने की माँग किया गया है। एआईएसएफ के राज्य अध्यक्ष अमीन हमज़ा,राज्य सचिव रंजीत पंडित एवं बेगूसराय जिला मंत्री राकेश कुमार ने कहा कि विगत 12मई को दो छात्र वैक्सीन लेने जा रहे थे।बेगूसराय के तेघड़ा सीओ परमजीत सिरमौर ने छात्रों को रोक कर पीटना एवं गाली देना शुरू कर दिया।छात्र वैक्सीन लेने के बाद तेघड़ा सीओ से मारपीट कर कारण पूछे तो पुनः छात्रों को पीटा एवं मोबाइल छीन लिया।जबकि छात्र वैक्सीन लेने की बात बता रहे थे। छात्रों को बंधक बना 5 घंटे तक रखा और फाइन लेकर छोड़ा।इतना से भी मन नहीं भरा तो दो अलग-अलग थानाओं तेघड़ा एवं फुलवरिया थाने में फर्जी एफआईआर भी दर्ज किया। जिसमें एक में हत्या के प्रयास (307) का मुकदमा भी दर्ज है।

एआईएसएफ नेताओं ने मेल से भेजे गए पत्र में कहा कि एक तरफ सरकार वैक्सीन लेने को कह रही है तो दूसरी तरफ ऐसे अधिकारी वैक्सीन लेने जा रहे छात्रों के द्वारा संबंधित दस्तावेज दिखाए जाने के बावजूद अमानवीय व्यवहार करते हैं।तेघड़ा सीओ ने क्षेत्र में कई दफा मानवता को शर्मसार करने वाली घटना को अंजाम दिया है।पूरे मामले का निष्पक्ष जाँच कराने,तेघड़ा सीओ को बर्खास्त करने एवं पीड़ित छात्रों पर किए गए फर्जी मुकदमें को वापस लेने की माँग एआईएसएफ नेताओं ने किया। वहीं एआईएसएफ के राष्ट्रीय सचिव सुशील कुमार ने बेगूसराय डीएम अरविंद वर्मा से बात कर पूरी घटना की जानकारी देते हुए ठोस कार्रवाई की माँग किया।डीएम से बातचीत में एआईएसएफ नेता ने कहा कि तेघड़ा सीओ पूर्वाग्रह से प्रेरित होकर काम करते हैं।वैक्सीन लेने जा रहे छात्रों पर पहले तो मारपीट,गाली गलौज करना और पुनः दो-दो थाना में पीड़ित पर ही मुकदमा सीओ द्वारा कराया जाना अफसरशाही है।वैक्सीन अधिक से अधिक लोगों को लेने के लिए प्रेरित करना प्रशासन की खुद जिम्मेदारी है लेकिन उल्टे वैक्सीन लेने जा रहे छात्रों के साथ तेघड़ा सीओ ने अमानवीय व्यवहार किया है।डीएम ने कहा कि पूरे मामले पर तेघड़ा एसडीओ से लिखित रिपोर्ट उन्होंने माँगा है एवं जाँच टीम भी गठित होकर जाँच कर रही है।रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई का डीएम ने भरोसा दिलाया।इधर घटना को झूठा करार देने के लिए एबीपी न्यूज़ के द्वारा बेगूसराय जिला अधिकारी के हवाले से गलत न्यूज़ फैलाए जाने का उन्होंने निंदा किया है।

एडवर्टाइज

Copy

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!