Publisher Theme
I’m a gamer, always have been.

राष्ट्रीय लोक अदालत से पक्षकारों के 1010 एवं 219 अपराधिक मामले का हुआ निष्पादन

0 85

 

विभिन्न बैंकों ने बकायेदारों  से लगभग दो करोड़ वसूले

विभिन्न बीमा कंपनी ने दुर्घटना दावाकर्ता को 72 लाख रुपये दिए !

बिजली विभाग ने बकायेदारों से लगभग 24 लाख रूपये वसूले

बेगूसराय व्यवहार न्यायालय बेगूसराय समेत सभी अनुमंडल न्यायालय में आज राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया राष्ट्रीय लोक अदालत का विधिवत उद्घाटन प्रभारी जिला एवं सत्र न्यायाधीश रविंद्र सिंह ने की। राष्ट्रीय लोक अदालत के विधिवत संचालन के लिए कुल 13 पीठों का गठन किया गया। सभी पीठों ने मिलकर कुल 1010 मामलों का निष्पादन दोनों पक्षकारों की सहमति के आधार पर किया। इस बार लोक अदालत से कुल 219 समझौता योग्य अपराधिक मामले का निष्पादन किया गया। बिजली विभाग ने बकायेदारों से लगभग 24 लाख रूपये की वसूली की। विभिन्न बैंकों ने अपने 772 बकायेदारों से लगभग 4:76 करोड़ पर समझौता किया एवं उनसे लगभग 2 करोङ रूपये की वसूली की। विभिन्न बीमा कंपनी ने 16 दुर्घटना बीमा दावा कर्ता को कुल 72 लाख रुपये का भुगतान किया। जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव धीरेंद्र कुमार पांडे ने कोरोना काल को देखते हुए राष्ट्रीय लोक अदालत के संचालन में कोरोना गाइडलाइन का पूर्णता पालन करवाया।

सभी पक्षकार भी कोरोना गाइडलाइन के तहत मास्क लगाकर पीठ के समक्ष उपस्थित हुए न्यायिक पदाधिकारी एवं अन्य न्यायालय कर्मी भी मास्क लगाकर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ लोक अदालत का काम संपन्न किया। राष्ट्रीय लोक अदालत में पीठासीन पदाधिकारी न्यायिक पदाधिकारी राज किशोर राय ,अरुण कुमार ,हबीबुल्लाह ,पंकज मिश्रा ,ठाकुर अमन कुमार ,राजीव रंजन ,राजीव कुमार ,मुंशीलाल गौतम  दीपक भटनागर  संतोष कुमार, रामचंद्र प्रसाद ,धीरज कुमार मिश्रा और सीतेश कुमार बनाए गए थे। सभी पीठो में पीठासीन पदाधिकारी को सहयोग देने के लिए अधिवक्ता गोपाल मिश्रा ,रजनीश कुमार ,दीपक कुमार ,सुबोध कुमार झा ,विवेक कुमार सिन्हा ,पुष्पा कुमारी ,प्रिंस कुमार, रामबाबू चौधरी ,राजकुमार ,कुंदन कुमार ,संजीव कमल समेत अन्य को पीठ का सदस्य बनाया गया था। राष्ट्रीय लोक अदालत को तकनीकी रूप से देखभाल की जिम्मेदारी उदय कुमार सर्वर पदाधिकारी अरमान फैजी एवं धर्मशील कुमार” कुमार अभिषेक एवं नाजिर मनोहर प्रसाद को दी गई थी।

राष्ट्रीय लोक अदालत से 219 अपराधिक मामले का हुआ निष्पादन

राष्ट्रीय लोक अदालत से इस बार कुल 219 समझौता योग्य अपराधिक मामले का निपटारा उभय पक्षकारों की सहमति के आधार पर किया गया।

मंझौल अनुमंडल न्यायालय पीठ संख्या 10 के पीठासीन पदाधिकारी एसीजेएम संतोष कुमार ने कूल 30 अपराधिक मामले का निपटारा किया जिसमें 22 बिजली विभाग के मामले थे बखरी अनुमंडल न्यायालय पीठ संख्या 11 के पीठासीन पदाधिकारी न्यायिक दंडाधिकारी रामचंद्र प्रसाद ने 5 अपराधिक मामले का निपटारा किया जबकि बलिया अनुमंडल न्यायालय पीठ संख्या 12 के पीठासीन पदाधिकारी एसीजेएम धीरज कुमार मिश्रा ने कुल 18 अपराधिक मामले का निपटारा किया तेघरा अनुमंडल न्यायालय पीठ संख्या 13 के पीठासीन पदाधिकारी एसीजेएम सीतेश कुमार ने कुल 8 अपराधिक मामले का निपटारा किया जिसमें एक मामला बिजली विभाग से संबंधित था। शेष सभी अपराधिक मामले व्यवहार न्यायालय बेगूसराय के पीठ संख्या 7 जिसके पीठासीन पदाधिकारी न्यायिक दंडाधिकारी राजीव कुमार सदस्य अधिवक्ता विवेक कुमार सिन्हा एवं पीठ संख्या पांच जिसके पीठासीन पदाधिकारी एडीजे ठाकुर अमन कुमार एवं सदस्य अधिवक्ता सुबोध कुमार झा के द्वारा मामले का निपटारा किया गया। राष्ट्रीय लोक अदालत की पूरी जानकारी जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव धीरेंद्र कुमार पांडेय ने दी है।

राजेश कुमार , विधि संवाददाता – बेगूसराय

Copy

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!